पंजाबः इस चौंक को तोड़ने को लेकर हुआ हंगामा, लोगों ने किया ट्रैफिक जाम, देखें वीडियो

पंजाबः इस चौंक को तोड़ने को लेकर हुआ हंगामा, लोगों ने किया ट्रैफिक जाम, देखें वीडियो

बटालाः गुरदासपुर में अस्थाई रूप से बने भाई लालो चौक को तोड़ने के विरोध में रामगढ़िया समाज ने विरोध प्रदर्शन किया। चौंक तोड़ने वाले पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। साथ ही फ्लैक्स को नीचे फेंकने वाला अधिकारी चौक में आकर सबसे माफ़ी मांगने को कहा। इस मौके रामगढ़िया समाज ने कहा जिसने भी यह चौक को तोड़ा है चौक में लगे भाई लालो जी के नाम के फ्लैक्स को तोड़कर नीचे फेंका गया है। जिससे उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है उन्होंने मांग की है। जिसने भी इस चौक को तोड़ा है उसे दोबारा बनाया जाए। फ्लैक्स को नीचे फेंकने वाला अधिकारी चौक में आकर सबसे माफ़ी मांगे नहीं तो वह इस संघर्ष को और तेज करेंगे

पार्षद सतिंदर सिंह और रामगढ़िया भाईचारे लोगों ने बताया पिछले 35 साल से इस चौक का नाम भाई लालो चौक है। चौक नगर पालिका से भी मंजूर है जहां पर एक बोर्ड लगाकर इस चौक को अस्थाई रूप से बनाया गया था लेकिन कल किसी पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने आकर इस चौक को तोड़ दिया है। इस चौक में लगे भाई लालो जी के बोर्ड को उतार कर नीचे फेंक दिया जिसके चलते सभी रामगढ़िया भाईचारे के लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है उन्होंने मांग की है के जिसने भी इस चौक को तोड़ा है फिर से यह चौक बनाया जाए और जिसने भाई लालो जी के नाम का बोर्ड नीचे फेंका है वह चौक में आकर सबसे माफ़ी मांगे अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया तो वह अपना धरना प्रदर्शन इसी तरह जारी रखेंगे

नगर पालिका अध्यक्ष बलजीत सिंह पाहड़ा ने कहा कि जय चौक हो उसमें भी पास हो चुका है और जल्द इसके टेंडर लगाकर इस चौक को पक्काबनाने के लिए काम चल रहा है लेकिन आज किसी ने इस चौक को तोड़कर इसमें लगे भाई लालो जी के बोर्ड को उतार दिया है। बिल्कुल निंदनीय है उन्होंने कहा कि जिसने भी यह हरकत की है उसके खिलाफ बनती कार्रवाई होनी चाहिए। भाई लालो चौक में प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों को शांत करने के लिए मौके पर पहुंचे पीडब्ल्यूडी के SDO लवजीत सिंह ने प्रदर्शन करने वालों से माफ़ी मांग कर धरना शांत करवाया।

इस चौक पर बाउंड्री बनाई गई थी लेकिन नया बस स्टैंड बने के कारण ट्रैफिक ज्यादा शुरू हो गई, इसलिए यहां पर जाम लगना शुरू हो गया था। इस लिए लोगों को ट्रैफिक समस्या न हो इसलिए वहां पर लगाई बोरियां वहां से हटाई गई थी, वहां पर लगा बोर्ड भी साइट पर रखा गया था। उन्होंने कहा कि उन्हें नही पता बोर्ड कैसे नाली के पास पहुंचे उनका मकसद किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नही था। अगर किसी को इस से ठेस पहुंची है तो वह माफी मांगती है। इसका नगर कौंसिल द्वारा टेंडर लगाते ही भाई लालो चौंक बनाया जाएगा।