ऊना की सड़कें जल्द होंगी लावारिस पशु मुक्त : वीरेंद्र कंवर

0
91

लावारिस पशु पकडऩे को अगस्त माह में विशेष अभियान चलाने के दिए निर्देश..
ऊना (पवन ठाकुर):- ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, पशु तथा मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा है कि जिला ऊना की सड़कें जल्द ही लावारिस पशुओं के आंतक से मुक्त हो जाएंगी। थाना कलां में आज विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ एक बैठक के दौरान वीरेंद्र कंवर ने लावारिस पशुओं को पकडऩे के लिए अगस्त महीने के पहले सप्ताह में विशेष भियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले सड़क पर घूमने वाले बैल पकड़े जाएं ताकि लोगों को इनके आतंक से छुटकारा मिल सके। यह अभियान पंचायती राज विभाग तथा पशु पालन विभाग के संयुक्त तत्वाधान में चलाया जाएगा और इसके लिए धन का प्रावधान जिला प्रशासन की ओर से किया जाएगा।
बैठक में वीरेंद्र कंवर ने कहा कि पशु पालन विभाग हॉट स्पॉट की पहचान करेगा ताकि उन जगहों की पहचाना जा सके, जहां पर लावारिस बैल अकसर दिखाई देते हैं। इसके बाद इन बैलों व अन्य पशुओं को पकड़ कर जिला में पंचायतों द्वारा संचालित गौ सदनों में भेजा जाएगा और वहीं पर इन्हें रखा जाएगा। कई बार हिंसक भी हो जाते हैं, जिसे देखते हुए ट्रैंकुलाइजर गन का इस्तेमाल भी किया जाएगा ताकि लावारिस बैलों को बेहोश करके गौशालाओं में ले जा सके और किसी कर्मचारी को किसी भी प्रकार का नुकसान न पहुंचे।
ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि लावारिस पशुओं की वजह से किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचता है तथा सड़क पर दुर्घटनाएं भी होती हैं। ऐसे में पशुओं को सड़क से हटाने के बाद यह समस्याएं दूर हो जाएंगी। उन्होंने बताया कि जिला में 10 गौशालाएं सक्रिय रूप से काम कर रही हैं तथा जल्द ही 8 और गौशालाओं को चलाने की व्यवस्था कर ली जाएगी। इनके सुचारू रूप से संचालित होने बाद लगभग 1500 लावारिस पशुओं को रखने की व्यवस्था हो जाएगी।
बैठक में वीरेंद्र कंवर ने कहा कि गौशालाओं के संचालने के लिए पांच सदस्यों की सोसाइटी का गठन किया जाता है, जिनमें दो सरकारी सदस्य होने चाहिए। गौशालाओं के संचालन के लिए सोसाइटियों को प्रदेश सरकार की ओर से हरसंभव मदद दी जाती है। बिल प्रस्तुत करने पर गौ रक्षा राशि के माध्यम से चारे के लिए 50 प्रतिशत की आर्थिक मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बड़ी गौशालाओं में बैलों को रखने के लिए नंदीशाला बनाने को भी प्रदेश सरकार मदद देती है। जिन गौशालाओं के पास पर्याप्त भूमि है, वह इस दिशा में काम करें।
इस बैठक में जिला पंचायत अधिकारी रमन कुमार शर्मा, बीडीओ सोनू गोयल, वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. सतिंदर ठाकुर, एसडीओ बिजली विभाग राहुल पुरी, एस.डी.ओ आईपीएच हरभजन सिंह, प्रिंसीपल डाइट देवेंद्र चौहान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने आईपीएच विश्राम गृह में जन समस्याओं का निपटारा भी किया। उन्होंने अधिकारियों को लोगों की समस्याएं दूर करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। इस अवसर पर कुटलैहड़ भाजपा महामंत्री कैप्टन प्रीतम डढवाल, जिला भाजपा सचिव सतीश धीमान सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here