2 महीने से बिना डॉक्टर से चल रही साई पीएचसी

0
69

पहाड़ी क्षेत्रों के लोगो को समझा जा रहा सिर्फ वोट बैंकः बबलू पण्डित

बद्दी/सचिन बैंसल। इंटक के प्रदेशाध्यक्ष बबलू पण्डित ने बुधवार को एक प्रेस नोट जारी करते हुए कहा कि दून विधानसभा क्षेत्र के पहाड़ी गांव साई में स्थित सवास्थ्य विभाग की ओर से बनाई गई पीएचसी केवल एक नमूना बनकर रह गयी है। पिछले 2 महीनों से इस पीएचसी में कोई भी डॉक्टर तैनात नही किया गया है। जिससे कि साई, सोढ़ी, बुआसनी, घरेड व बायला पंचायतों के लगभग 6 दर्जनों गांव के लोगो को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अगर जल्दी ही साई में डॉक्टर की नियुक्ति न कि गयी तो इंटक स्थानीय लोगो के साथ मिलकर उग्र आंदोलन का रुख अपनाएगा। उन्होंने भाजपा पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा सिर्फ चुनाव के लिए पहाड़ी लोगो का इस्तेमाल करती है और सुविधाओं के नाम पर ठेंगा दिखती है। सोढ़ी निवासी व इंटक के जिला सचिव राज शर्मा ने बताया कि 2 महीने पहले इस पीएचसी से डॉक्टर रिटायर होने के बाद विभाग ने कोई भी डॉक्टर इस पीएचसी में नही भेजा है जिससे कि समस्त ग्रमीणों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि अगर कोई व्यक्ति बीमार हो जाता है तो उसे दवाई लेने के लिए बददी या नालागढ़ जाना पड़ता है। स्थानीय निवासी एल डी दर्दी ने बताया कि भाजपा के समय मे पहाड़ी क्षेत्र के लोगो के साथ सौतेला व्यवहार किया जाता है पिछले 2 महीने से रोजाना लोग दवाई लेने बददी अस्पताल में जा रहे है जिससे कि सिर्फ दवाई लेने में ही उनका पूरा दिन का समय खराब हो जाता है। सोढ़ी के उप प्रधान केदार नाथ, साई के उपप्रधान सोहन लाल, सुनीता , संतोष कुमार, बबिता देवी कंचन देवी, रमा चन्द्र शर्मा, राम कारण , मिन्दर सिंह, बलदेव, नारायण दास, परशराम, ओम प्रकाश, मनसा राम, सुरेंदर कुमार ने कहा कि बिना डॉक्टर से उन्हें व उनके परिवार को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उधर बीएमओ डॉ के ड़ी जस्सल ने कहा कि सात दिन के अंदर ही वहाँ पर डॉक्टर की न्युक्ति कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here