मैहतपुर में ड्राई नीडलिंग पर हुई फिजियोथैरेपिस्टों की वर्कशॉप

0
96

फुटबॉल की अंडर-17 टीम के खिलाड़ियों के साथ प्रैक्टिस

ऊना/रोहित शर्मा। डॉक्टर बैजनाथ शर्मा क्लीनिक एवं फिजियोथैरेपिस्ट सेंटर मैहतपुर में दो दिवसीय ड्राई नीडलिंग (क्लीनिकल स्पोट्र्स) पर फिजियोथैरेपिस्टों की वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस मौके पर प्रदेश भर से करीब 20 फिजियोथैरेपिस्टों ने भाग लिया। वर्कशॉप में बतौर मुख्य वक्ता दिल्ली से स्पोट्र्स फिजियोथैरेपिस्ट डॉ. मयंक पुष्कर उपस्थित रहे। उन्होंने खेल के दौरान खिलाडिय़ों को होने वाली मसल पेन पर ड्राई नीडलिंग से इलाज के बारे में बिस्तार से अवगत करवाया। डॉ. पुष्कर ने कहा कि खेल के दौरान अकसर खिलाडिय़ों को मसल पेन हो जाती है, इस दौरान खिलाड़ी को वापिस मैदान में भी जाना होता है। इस सबके चलते खिलाड़ी को तुरंत रिलीफ देने के लिए ड्राई नीडलिंग के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। डॉ. पुष्कर ने बताया कि क्लीनिकल स्पोट्र्स ड्राई नीडलिंग दुनिया की नवीनतम तकनीकों में से एक है। इसका तुरंत दर्द निवारण में बेजोड़ असर होता है। वर्कशॉप के अंतिम दिन हिमाचल प्रदेश की अंडर-17 फुटबॉल टीम के खिलाडिय़ों के लिए चैकअप कैंप लगाया गया। इस दौरान फुटबॉल खिलाडिय़ों को ड्राई नीडलिंग करके उन्हें दर्द से आराम पहुंचाया। वर्कशॉप के मुख्य आयोजन डॉ. सुमित कुमार शर्मा ने बताया कि इस तकनीक से खिलाडिय़ों के अलावा अन्य मसल पेन के मरीजों को भी ठीक किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह तकनीक तुरंत दर्द निवारक के रूप में काम करती है। वर्कशॉप में डॉ. नागेश शर्मा, डॉ. अनूप कुमार, डॉ. आशुतोष, डॉ. अविनाश, डॉ. अफजल, डॉ. सत्या नायक, डॉ. विजय भारद्वाज, डॉ. नितिन भट्टी, डॉ. विकास, डॉ. दीपक, डॉ. हरप्रीत समेत अनेत डॉक्टर उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here