इनोसैंट हार्टस ग्रुप आफ इंस्टीच्यूशंस के आईटी विभाग द्वारा ‘प्रकृति प्रेरित अनुकूलन एल्गोरिथ्म पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

0
46

जालन्धर। इनोसैंट हार्टस ग्रुप आफ इंस्टीच्यूशंस के आईटी विभाग द्वारा ‘प्रकृति प्रेरित अनुकूलन एल्गोरिथ्म कम्प्यूटर विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में एक नवीनतम अवधारणा पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई। डा. कवलजीत (एसोसिएट प्रोफैसर, कम्प्यूटर साईंस विभाग डीएवी कालेज जालन्धर) प्रमुख वक्ता के रूप में पहुंचे। डा. शैलेश त्रिपाठी (ग्रुप डायरैक्टर, इनोसैंट हाट्र्स ग्रुप आफ इंस्टीच्यूशंस) और प्रो. पुनीत कुमारी (एचओडी आईटी) द्वारा उनका सम्मान किया गया। डा. कवलजीत ने कहा कि आज के आधुनिक समाज में शिक्षा, व्यवसाय, संचार और वैज्ञानिक प्रक्रियाओं के क्षेत्र में टैक्नोलॉजी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। विभिन्न इंजीनियरिंग अनुप्रयोगोंं मेंं उपयोग के लिए हाल के वर्षों में जनसंख्या आधारित अनुकूलन तकनीकोंं की विशाल विविधता तैयार की गई है। जिनमेंं से अधिकांश हमारे पर्यावरण मेंं होने वाली प्राकृतिक प्रक्रियाओं से प्रेरित है। प्रकृति-प्रेरित एल्गोरिदम के उदाहरणों में आर्टिफिशियल नेउरल नेटवर्क (एएनएन), फज़ी सिस्टम (एफएस), विकासवादी कम्प्यूटिंग (ईसी) और स्र्वार्म इंटेलिजेन्स शामिल हैंं। प्रकृति-प्रेरित एल्गोरिदम समस्या-समाधान के तरीकों दृष्टिकोणों का एक समूह है और उनके अच्छे प्रदर्शन के कारण काफी ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। डॉ. शैलेश त्रिपाठी ने अतिथि वक्ता का धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि प्रकृति से प्रेरित एल्गोरिथम (एनआईए) इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में अनुसंधान का प्रमुख हिस्सा है। प्रकृति से प्रेरित एल्गोरिदम को डिजाइन करने का उद्देश्य प्रकृति से प्रेरणा लेकर विभिन्न समस्याओं के समाधान का पता लगाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here