110 करोड़ की लागत से बने मैगा फूड पार्क का लोकापर्ण…

0
92

मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री ने संयुक्त रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया शुभारंभ…

रोहित शर्मा/ऊना। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर व केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने हरोली विधानसभा क्षेत्र के सिंगा में बने मैगा फूड पार्क का शुभारंभ संयुक्त रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया। यह पार्क क्रेमिका औद्योगिक घराने द्वारा 110 करोड़ रुपये की लागत से 51 एकड़ भूमि पर स्थापित किया गया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार उद्यमियों को राज्य में खाद्य एवं फल प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित करने के लिए हरसंभव सहायता उपलब्ध करवाएगी ताकि युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने के साथ-साथ किसानों व बागवानों की आर्थिकी सुदृढ़ हो सके। जय राम ठाकुर ने कहा कि यह मैगा फूड पार्क केंद्र सरकार की योजना के अंतर्गत स्थापित किया गया है। सिंगा में स्थापित इस फूड पार्क से लगभग 300 करोड़ रुपये का निवेश अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि इसके आरम्भ हो जाने से क्षेत्र के किसानों व बागवानों को जहां उनके उत्पादों का उचित मूल्य प्राप्त होगा, वहीं युवाओं को भी रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने पर्यटन, आतिथ्य, रिजोर्ट, फार्मा, लघु एवं सूक्ष्म उद्योग, इंजीनियरिंग यंत्र, सूचना प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य एवं वेलनेस केंद्र, हर्बल एवं आयुर्वेद आधारित परियोजनाएं, बागवानी, ऊर्जा, खाद्य प्रसंस्करण, रियल एस्टेट, शिक्षा आदि क्षेत्रों में निवेश के लिए इस वर्ष 10 व 11 जून को धर्मशाला में ग्लोबल इंवेस्टर मीट आयोजित करने की योजना बनाई है।
उन्होंने कहा कि एकल खिड़की, अनुश्रवण एवं स्वीकृति प्राधिकरण द्वारा उद्यमियों को प्रदेश में अपनी इकाइयां स्थापित करने के लिए प्रभावी, पारदर्शी, समायिक व बिना किसी रुकावट से स्वीकृतियां प्रदान करना सुनिश्चित बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार धर्मशाला में प्रस्तावित इंवेस्टर मीट के लिए औद्योगिक घरानों को आमंत्रित कर रही है और इस दौरान उन्हें राज्य में उपलब्ध निवेश की अपार संभावनाओं के बारे में जानकारी दी जा रही है। हाल ही में उन्होंने बैंगलुरु तथा हैदराबाद का दौरा कर उद्यमियों से भेंट की और उन्हें प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया।

हिमाचल में 30 परियोजनाएं लगेंगी, 17 हज़ार को मिलेगा रोज़गारः हरसिमरत
इस अवसर पर केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि मोदी सरकार ने बसंत पंचमी के अवसर पर पहला मैगा फूड पार्क लगाकर हिमाचल प्रदेश को बड़ा तोहफा दिया है। मैगा फूड पार्क में 25-30 इकाइयां लगने से 250 करोड़ रुपए का अतिरिक्त निवेश आएगा और इन सभी कंपनियों का वार्षिक टर्नओवर 450-500 करोड़ रुपए होगा। ऊना में बने मैगा फूड पार्क से लगभग 5,000 युवाओं को रोज़गार मिलेगा और लगभग 25,000 किसान लाभान्वित होंगे। मैगा फूड पार्क के निर्माण से हिमाचल प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के विकास को बढ़ावा मिलेगा, जिससे विकास के नए द्वार खुलेंगे।
हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि केंद्र सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व निवेशकों के लिए पारदर्शी माहौल देने को समर्पित है ताकि वह अपना कारोबार आसानी से कर सकें। उन्होंने कहा कि भारत को मजबूत खाद्य आधारित अर्थव्यवस्था बनाने और विश्व की फूड फैक्टरी बनाने के लिए सरकार अपने मेक इन इंडिया प्रोग्राम में फूड प्रोसेसिंग पर काफी बल दे रही है। केंद्र सरकार ने एक साल पहले प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना शुरू की है, जिसके अंतर्गत केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय को 6000 करोड़ रुपए मिले। फलों और सब्जियों की बर्बादी रोकने के लिए मैगा फूड पार्क बनाने के लिए मंत्रालय की तरफ से 50 करोड़ रुपए और मिनी फूड पार्क के निर्माण पर 35 करोड़ की सब्सिडी मिलती है।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कांगड़ा जिला में मिनी फूड पार्क स्वीकृत किया है। आने वाले समय में हिमाचल प्रदेश में 518 करोड़ रुपए की लागत से 30 विभिन्न परियोजनाएं लगने जा रही हैं। जिनमें 15 कोल्ड चेन, दो अतिरिक्त फूड टेस्टिंग यूनिट शामिल हैं। उन्होंने कहा कि यह परियोजनाएं तैयार हो जाने के बाद लगभग 17 हज़ार युवाओं को रोज़गार के अवसर मिलेंगे और 50,000 किसान-बागवान लाभान्वित होंगे।

हिमाचल में निवेश के लिए अच्छा वातारणः उद्योग मंत्री
मैगा फूड पार्क के लोकार्पण अवसर पर उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में निवेशकों के लिए अच्छा वातावरण है। हिमाचल प्रदेश विद्युत उत्पादन करने वाला राज्य है, ऐसे में यहां बिजली की कोई कमी नहीं है। इसके अलावा निवेशकों को सस्ती दरों पर भूमि उपलब्ध है। साथ ही राज्य सरकार निवेशकों की सुविधा के लिए अनेकों ऐसे कदम उठा रही ताकि उन्हें अपना कारोबार शुरू करने में कोई समस्या पेश न आए। उद्योगों को एनओसी प्रदान करने के लिए विभागों की समय सीमा तय कर दी गई है, ताकि निवेशकों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर बार-बार न लगाने पड़ें। उन्होंने कहा कि निवेश के लिए आधारभूत ढांचा मजबूत बनाने पर राज्य सरकार विशेष ध्यान दे रही है। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार से भी हिमाचल प्रदेश को भरपूर सहयोग मिल रहा है।
बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि धर्मशाला में ग्लोबल इनवेस्टर मीट होने जा रही है, जिससे प्रदेश में करोड़ों रुपए का निवेश होने का मार्ग प्रशस्त होगा। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर निवेशकों को आकर्षित करने के लिए स्वयं प्रयासरत हैं, जिसके सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद है। उद्योग मंत्री ने निवेशकों से प्रस्तावित ग्लोबल इनवेस्ट मीट में बढ़-चढ़ कर भाग लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2019-2020 के लिए मुख्यमंत्री ने संतुलित बजट प्रस्तुत किया है, जिससे हिमाचल प्रदेश विकास की दिशा में आगे बढ़ेगा और हर वर्ग को लाभ होगा।

2022 तक केंद्र से मिला औद्योगिक पैकेजः अनुराग ठाकुर
इस अवसर पर सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि जब भी केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार आती है, हिमाचल प्रदेश को विशेष रियायतें मिलती हैं। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में तत्कालीन एनडीए सरकार ने वर्ष 2002 में औद्योगिक पैकेज दिया जिससे प्रदेश में औद्योगिक क्रांति आई। औद्योगिक पैकेज मिलने के बाद हिमाचल प्रदेश में 49,000 से अधिक उद्योग लगे जबकि कुल 34 हजार करोड़ का निवेश हुआ। उद्योग लगने से 4 लाख से अधिक लोगों को रोजगार का अवसर मिला।
अनुराग ठाकुर ने कहा कि अब केंद्र सरकार ने औद्योगिक पैकेज को वर्ष 2022 तक स्वीकृति प्रदान की है। औद्योगिक पैकेज मिलने से हिमाचल प्रदेश में निवेश करने वाले उद्योगपतियों को विशेष रियायतें मिलेंगी। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया। सांसद ने कहा कि फूड प्रोसेसिंग यूनिट हिमाचल प्रदेश के किसानों व बागवानों के लिए विशेष रूप से लाभकारी सिद्ध हो सकते हैं क्योंकि यहां पर फल व सब्जियों का उत्पादन होता है। उन्होंने कहा कि सिंगा में मैगा फूड पार्क बनाने के लिए केंद्र सरकार ने 50 करोड़ रुपए की सब्सिडी दी है। इस पार्क में क्रीमिका के साथ-साथ जूस कॉन्संट्रेट और जैम बनाने का प्लांट भी लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के लोगों ने अपनी ईमानदारी और मेहनत के बल-बूते पूरे देश में अपनी अलग पहचान बनाई है, जिसके लिए हिमाचलवासी बधाई के पात्र हैं।

हरोली के वरदान बनेगा मैगा फूड पार्कः प्रो. राम कुमार
इससे पहले राज्य औद्योगिक विकास निगम के उपाध्यक्ष प्रो. राम कुमार ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए कहा कि यह मैगा फूड पार्क क्षेत्र के लोगों के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि बाथू से फूड पार्क तक सड़क बनाने के लिए 1.87 करोड़ रुपए खर्च किया जा रहा है, जिसके लिए वह मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर के आभारी हैं। मुख्यमंत्री ने 4 नवंबर 2018 को इस सड़क का भूमिपूजन किया था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आज करोड़ों रुपए की योजनाओं के शिलान्यास करने वाले थे, लेकिन व्यस्तताओं के चलते वह ऊना नहीं आ पाए। जल्द ही जय राम ठाकुर जिला का दौरा करेंगे, तब इन योजनाओं का भूमिपूजन किया जाएगा।
इससे पहले क्रीमिका फूड पार्क प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन अक्षय बैक्टर ने सभी गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया, जबकि कंपनी के निदेशक संजय सिंह परमार ने धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया।
इस अवसर पर एपीएमसी के चेयरमैन बलवीर सिंह बग्गा, केंद्र सरकार में अतिरिक्त सचिव डॉ. राकेश सरवाल, निदेशक उद्योग हंसराज शर्मा, उपायुक्त ऊना राकेश कुमार प्रजापति, एसडीएम हरोली गौरव चौधरी, नाबार्ड के सीजीएम रणबीर सिंह, जीएम शैला कामत व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here