गुर्जर आंदोलन तीसरे दिन भी जारी, कई ट्रेनें रद्द….

0
140

भरतपुर। राजस्थान में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर भरतपुर संभाग के सवाईमाधोपुर जिले में गुर्जर आंदोलन आज तीसरे दिन भी जारी रहा। आंदोलन के तहत गुर्जरों के जिले के मलारना और निमोदा रेलवे स्टेशनों के बीच पटरी पर जमा होने से दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग अवरुद्ध है वहीं बूंदी जिले के नैनवां में भी प्रदर्शनकारियों ने सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 148 पर जाम लगा दिया। जिससे मार्ग अवरुद्ध हो गया जबकि शनिवार से करौली जिले में गुडला में सड़क पर जाम लगा देने से हिंडौन-करोली मार्ग तथा उदयपुरवाटी में सड़क मार्ग अवरुद्ध कर देने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं।

आंदोलन के तहत अजमेर जिले में भी गुर्जर एकत्रित होने लगे हैं और नारेली के पास देवनारायण मंदिर के पास महापंचायत बुलाई गई जहां पास से गुजर रहे हाइवे पर जाम लगाने की रणनीति बनाई जायेगी। व्यस्त्तम दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग के अवरुद्ध होने से दर्जनों रेलगाड़ियों को मार्ग बदलकर चलाया जा रहा हैं वहीं 30 से अधिक रेलगाड़यों को रद्द एवं आंशिक रद्द किया गया हैं। रेल यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने हैल्प लाईन भी जारी कर गाड़ियों के बारे में जानकारी दी जा रही हैं।

आंदोलन के तहत रेल पटरी पर बैठे गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने फिर दोहराया है कि जब तक उन्हें आरक्षण नहीं मिल जाता हैं वे लोग पटरी पर ही डटे रहेंगे।

उन्होंने मीडिया से कहा कि शनिवार को राज्य सरकार के मंत्री बिना मसौदे के साथ उनसे बातचीत के लिए आये, इसलिए कोई नतीजा नहीं रहा। उन्होंने कहा कि इसके बाद अभी तक सरकार की तरफ से कोई संदेश नहीं मिला हैं और गुर्जर अपने हक के लिए अपनी मांग पर अडिग हैं और जब तक हक नहीं मिल जाता वे लोग पटरी पर ही डटे रहेंगे और जो भी फैसला होगा वह यही पर होगा। उन्होंने कहा कि गुर्जरों को उनका हक दे दीजिए, बस हो गया काम, नहीं तो आर पार की लड़ाई होगी। उन्होंने कहा कि इसे लेकर राज्य में सभी जगह आक्रोश हैं और लोग घर से बाहर निकलकर सड़क पर उतर आये हैं।

उधर आंदोलन स्थल पर शनिवार को गुर्जरों से वार्ता करने गये पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से आंदोलन को लेकर बातचीत की हैं और गुर्जरों के साथ अगले दौर की आज फिर बातचीत होने की संभावना हैं। आंदोलन के मद्देनजर मलारना तथा आस पास के क्षेत्रों में धारा 144 लगा रखी हैं तथा अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती की हुई हैं वहीं राज्य में आंदोलन भड़कने की संभावित जगहों पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की जा रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here