मांग पत्र वापिस लो वरना काम पर नहीं लेंगे….

0
99

डयूटी पर गए श्रमिकों को प्रबंधकों की दो-दो टूक…

बद्दी/सचिन बैंसल। औद्योगिक क्षेत्र मानपुरा में फार्मा कंपनी व श्रमिकों में चल रही खींचातान थमने का नाम नहीं ले रही। आज जब श्रमिक अपनी डयूटी करने कंपनी गए तो प्रबंधन ने सभी श्रमिकों का गेट बंद कर दिया। इस इंटक के प्रदेश सचिव श्याम ठाकुर, जिला प्रधान सोलन राजन गोयल व जिला उपाध्यक्ष जसविंद्र चौहान ने बताया कि जब मजदूरों ने गेट बंद करने का कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि आपकी यूनियन द्वारा जो मांगपत्र दिया गया है उसको वापिस ले लो और आपका यूनियन से कोई संबध नहीं होगा।

जब श्रमिकों ने लिखित तौर पर देने से मना कर दिया तो उनका गैर कानूनी तरीके से गेट बंद कर दिया गया है। इंटक नेताओं ने बताया कि हमने अपने मांगपत्र में वेतन बढोतरी, ईएसआई, पीएफ काटने व छुट्टियों की मांग की थी क्योंकि कंपनी नियमों कानूनों की पालना करने की बजाय श्रमिकों का जमकर शोषण कर रही है। इंटक ने बताया कि श्रमिकों ने एक शिकायत पत्र दवा नियंत्रक को भी भेजने का निर्णय लिया है क्योंकि यहां पर गलत तरीके से दवाईयों का निर्माण करके लोगों की सेहत से खिलवाड किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जो भी श्रमिक शोषण के विरुद्व आवाज उठाता है उसको बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है। इंटक के जिला उपाधयक्ष जसबिंदर चौहान की अध््यक्षता में क पनी के गेट पर क पनी प्रबंधकों के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी भी हुई।

शोषण के खिलाफ मजदूरों ने इंटक के बैनर तले जमकर नारेबाजी की ओर कंपनी द्वारा हो रहे अत्याचार के खिलाफ सभी विभाग में शिकायत भी दी कि उन्हें उनका हक दिलाया जाए और उनकी नौकरी को भी बहाल किया जाए। मजदूरों ने कहा कि अगर उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो वह अनिश्चित कालीन धरना देने पर मजबूर हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here