जिला प्रशासन ने नशों पर निर्भर लोगों के लिए की नई पहल..

0
33

संगीत की मदद से नशों की जकड़ से निकाला जाएगा बाहर.. सरकारी

पुनर्वास केंद्र में जल्द शुरू होगी संगीत की क्लास…जिलाधीश

जालन्धर(वरुण):-2019 नशों पर निर्भर लोग भी अपनी जिंदगी बढिय़ा तरीके से व्यतीत कर सके, जिसके लिए जिला प्रशासन ने एक नई पहल की है। प्रशासन ने गाँव शेखे के ओट केंद्र में चलाए जा सरकारी पुनर्वास केंद्र में जल्द ही संगीत की क्लास शुरू करने का निर्णय किया है। संगीत का सामान जिस में प्यानो, हरमोनियम, बाँसुरी और अन्य उपकरण केंद्र में पहुँच चुके है। संगीत अध्यापक की भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। जिसको जल्दी ही पूरी कर लिया जायेगा। इस संबंधी जानकारी देते हुए जिलाधीश वरिन्दर कुमार शर्मा ने बताया कि यह संगीत क्लास शुरू करने का मुख्य उदेश्य नशों पर निर्भर लोगों को रचनात्मक और बढिय़ा माहौल प्रदान करना है। उन्होनें कहा कि संगीत से नशों पर निर्भर लोगों में नशा छोडऩेे के लिए आत्म विश्वास पैदा किया जाएगा। श्री शर्मा ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से नशों के तस्करों के खिलाफ कार्यवाही के साथ-साथ लोगों को नशों के बुरे प्रभावों से अवगत करवाने के लिए डैपो, बडी और ओर कई प्रकार के जागरूकता प्रोग्राम करवाए जा रहे हैं। जिसके परिणामस्वरूप नशों पर निर्भर लोग अपना इलाज करवाने के लिए आ रहे हैं। जिलाधीश ने कहा कि नशों की दलदल में फसे लोगों को बाहर निकालने के लिए यह ही बढिय़ा तरीका है और जब तक जिला पूरी तरह से नशा मुक्त नहीं हो जाता जिला प्रशासन इस प्रकार के प्रयासो को निरंतर जारी रखेगा। सिविल सर्जन जालन्धर डा.राजेश कुमार बग्गा ने बताया कि विभाग की तरफ से केंद्र में स्टाफ भर्ती करने की प्रक्रिया चल रही है। उन्होनें बताया कि 20 बिस्तर वाले केंद्र में 24 घंटे मैडीकल अधिकारी, काउंसलर, वार्ड ब्वाय और नर्सिंग स्टाफ आदि की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। सिविल सर्जन ने कहा कि विभाग की तरफ से गैर सरकारी संस्था

के साथ संबंध बनाया जा रहा है जो केंद्र में तीन महीनो का कंप्यूटर, वैलडिंग,पलबिंग और इलैक्ट्रिकल के कोर्स करवाने के बाद सर्टिफिकेट जारी करेगा, ताकि पुनर्वास केंद्र से इलाज करवाने के बाद उन को अपना रोजगार शुरू करने में किसी प्रकार की कोई मुश्किल का सामना न करना पड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here