सैलून मालिक की हत्या नहीं ट्रेन की फेट से हुई थी मौत…

0
266

जालंधर। सोढल रेलवे फाटक के पास शनिवार शाम 4 बजे 38 साल के सैलून मालिक अरुण कुमार बस्सी उर्फ जोगी की हत्या नहीं बल्कि उसने आत्महत्या की थी। जीआरपी ने रविवार को घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी खंगाले तो एक सीसीटीवी में नजर आया कि शनिवार दोपहर 2:50 पर अरुण उर्फ जोगी सोढल फाटक के पास आ चुका था। वह बीच रेलवे लाइन पर चलता नजर आ रहा है। एसएचओ इंद्रजीत सिंह ने कहा कि यह बात तो क्लियर हो गई कि जोगी की लाश फेंकी नहीं गई थी, वह जिंदा ही घटनास्थल पर आया था। वहीं पोस्टमार्टम से यह बात भी साफ हो गई कि यह हत्या नहीं आत्महत्या है। मानना है कि सीसीटीवी कैमरे में नजर आ रहा है कि मरने से पहले जोगी रेलवे लाइन के बीच में घूम रहा है। वह सुसाइड के मूड में था, मगर जब ट्रेन आई तो उसने इरादा बदला होगा, मगर उसे संभलने का मौका नहीं मिला था और संभवत: उसका सिर ट्रेन के डिब्बे से टकरा गया। उधर, सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम से पता चला कि जोगी की मौत ट्रेन की चपेट में आने से हुई है तो पिता गौतम ऋषि बस्सी बोले- बेटा सुसाइड नहीं कर सकता और लाश लेने से इनकार कर रहे थेे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here