बैंक खातों से लिमिट से ज्यादा कैश निकालने पर देना होगा…

0
212

नई दिल्ली। अब अगर आपने अपने बैंक खातों से एक लिमिट से ज्यादा कैश निकाला तो आपको टैक्स देना पड़ सकता है। नए नियम के मुताबिक, बैंक खातों में कुल एक करोड़ रुपए से ज्यादा कैश विदड्रॉल करने पर 2 फीसदी टीडीएस कटेगा। इसमें आपके सभी अकाउंट शामिल होंगे। गुरुवार को वित्त विधेयक 2019 में सुधार करते हुए सरकार ने बड़ी खामी दूर की। अब यह TDS किसी शख्स के सभी बैंक अकाउंट को मिलाकर साल में 1 करोड़ रुपए से ज्यादा के किए गए कैश विदड्राल पर लगेगा।

वित्त मंत्री ने बताया कि इस काटे गए टीडीएस को कुल टैक्स में एडजस्ट कर दिया जाएगा। इससे पहले वित्त मंत्री ने कहा था कि ट्रस्ट के रुप में रजिस्टर्ड एफपीआई को नया टैक्स सरचार्ज देना होगा। निर्मला सीतारमण ने यहां स्पष्ट किया कि कंपनी के रूप में रजिस्टर्ड एफपीआई पर टैक्स रेट बढ़ने का फर्क नहीं पड़ेगा। आपको बता दें कि बजट में किए गए इस प्रस्ताव का मकसद कैश ट्रांजैक्शन को कम करना है।

इसलिए सिर्फ एक अकाउंट से साल में 1 करोड़ रुपए से ज्यादा के कैश विदड्रॉल पर 2 फीसदी TDS प्रस्ताव का गलत इस्तेमाल हो सकता था, लिहाजा सरकार ने फाइनेंस बिल 2019 में संशोधन कर इसे एक अकाउंट से बढ़ाकर मल्टीपल बैंक अकाउंट से विदड्रॉल तक लागू कर दिया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में सफाई देते हुए कहा है कि कुछ कंपनियां बड़े पैमाने पर कैश निकाल रही थी। इसीलिए इस प्रवृत्ति को देखते हुए सरकार ने एक सीमा से अधिक के कैश निकालने पर 2 फीसदी TDS (धन के स्रोत पर कर की कटौती) लगाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here